सोच विचार किये बगैर लिए गए सरकार के फैसले के चलते भारत में बेरोजगारी चरम पर - मनमोहन सिंह

तिरूवनंतपुरम (भाषा) - पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने मंगलवार को केंद्र पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि 2016 में भाजपा नीत सरकार द्वारा ‘‘बगैर सोच-विचार के लिए गए नोटबंदी के फैसले’’ के चलते देश में बेरोजगारी चरम पर है और अनौपचारिक क्षेत्र खस्ताहाल है। उन्होंने राज्यों से नियमित रूप से परामर्श नहीं करने को लेकर भी केंद्र की (प्रधानमंत्री) नरेंद्र मोदी सरकार की आलोचना की। आर्थिक विषयों के ‘थिंक टैंक’ राजीव गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज द्वारा डिजिटल माध्यम से आयोजित एक विकास सम्मेलन का उदघाटन करते हुए सिंह ने कहा कि बढ़ते वित्तीय संकट को छिपाने के लिए भारत सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा किये गए अस्थायी उपाय के चलते आसन्न कर्ज संकट से छोटे और मंझोले (उद्योग) क्षेत्र प्रभावित हो सकते हैं और इस स्थिति की हम अनदेखी नहीं कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री अमरिंदर ने आईपीएल आयोजन स्थलों में मोहाली को शामिल करने की अपील की

चंडीगढ़ (भाषा) - इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी टूर्नामेंट के आयोजन स्थलों में मोहाली को जगह नहीं देने पर हैरानी जताते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) से अपने फैसले पर पुनर्विचार की अपील की। मुख्यमंत्री ने साथ ही आश्वासन दिया कि कोविड-19 महामारी के बीच उनकी सरकार खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी इंतजाम करेगी। अमरिंदर ने ट्वीट किया, ‘‘आईपीएल के आगामी सत्र के स्थलों में मोहाली क्रिकेट स्टेडियम को जगह नहीं मिलने से हैरान हूं। मैं बीसीसीआई और आईपीएल से अपील करता हूं कि अपने फैसले पर पुनर्विचार करें। ऐसा कोई कारण नहीं कि मोहाली आईपीएल की मेजबानी नहीं कर सकता और कोविड-19 के खिलाफ सुरक्षा के लिए सभी जरूरी इंतजाम करेगी।’’

आपातकाल एक गलती थी - राहुल गांधी

नयी दिल्ली (भाषा) - कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाया गया आपातकाल एक “गलती” थी। उन्होंने कहा कि उस दौरान जो भी हुआ वह “गलत” था लेकिन वर्तमान परिप्रेक्ष्य से बिलकुल अलग था क्योंकि कांग्रेस ने कभी भी देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का प्रयास नहीं किया। अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और भारत के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बसु के साथ हुई बातचीत में गांधी ने कहा कि वह कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र के पक्षधर हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी, देश को उसका संविधान दिया और समानता के लिए खड़ी हुई।

स्पीड रडार के जरिए 15 महीनों में 35 हजार के हुए ओवरस्पीड के ऑनलाइन चालान

चंडीगढ़ (मयंक मिश्रा) - शहर में तेज रफ्तार वाहनों से हो रही सड़क दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए यूटी ट्रैफिक पुलिस की ओर से लगाए गए स्पीड रडार के जरिए पिछले करीब 15 महीनों में 35 हजार चालान संबंधित वाहन चालकों के घर भेजे गए हैं। इनमें से 8 हजार लोग चालान भुगत भी चुके हैं, लेकिन अभी भी करीब 27 हजार ऐसे वाहन चालक हैं जिन्होंने ओवरस्पीड का चालान नहीं भुगता है। हाल ही में प्रशासन ने तय किया है कि स्पीड रडार कैमरे से आपका ओवरस्पीड का चालान घर पहुंचा है तो अब पहली बार में आपका लाइसेंस सस्पेंड नहीं होगा। यानि जिनका ओवरस्पीड का पहला ऑफेंस है उन्हें चालान फीस तो भरनी होगी लेकिन उनका लाइसेंस सस्पेंड नहीं होगा। यदि किसी का दो बार ऑनलाइन चालान हो चुका है तो लाइसेंस सस्पेंड होगा।