Follow us on
Thursday, February 25, 2021
BREAKING NEWS
जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकी ढेरकोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर केंद्र ने कई राज्यों में भेजे उच्च स्तरीय दलआत्मनिर्भर भारत अभियान के अभिन्न अंग बन रहे हैं किसान - मोदीविधायिका को अविश्वसनीयता के दायरे में खड़ा कर रहा विपक्ष - योगीपंजाब बेशर्मी से गैंगस्टर मुख्तार अंसारी को बचा रहा है - उप्र सरकार ने न्यायालय से कहाअफगानिस्तान पर तालिबान के शासन का समर्थन नहीं करेंगे बाइडन - व्हाइट हाउसभारतवंशी वकील किरण आहूजा अमेरिका के कार्मिक प्रबंधन कार्यालय की प्रमुख के तौर पर नामितलाइट्स को लेकर चिंतित, खिलाड़ियों को तेजी से ढलना होगा - कोहली
Punjab

समार्ट क्लासरूमों के रूप को और सुंदर बनाने के लिए 12 करोड़ रुपए की अनुदान राशि जारी - विजय इंदर सिंगला

February 19, 2021 07:23 AM

चंडीगढ़ - सरकारी स्कूलों को स्मार्ट स्कूलों में बदलने के साथ-साथ मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार द्वारा स्मार्ट क्लासरूम्ज़ के रूप को सुधारने पर भी ज़ोर दिया जा रहा है। इन शब्दों का प्रगटावा करते हुए स्कूल शिक्षा मंत्री पंजाब विजय इंदर सिंगला ने बताया कि इस मंतव्य के अंतर्गत 16,359 सरकारी प्राथमिक, माध्यमिक, हाई और सीनियर सेकंडरी स्कूलों में स्थापित किए गए स्मार्ट क्लासरूमों के रूप को और सुंदर बनाने के लिए 11 करोड़ 94 लाख 72 हज़ार रुपए का अनुदान जारी किया गया है।

कैबिनेट मंत्री ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा विद्यार्थियों को गुणात्मक और मानक शिक्षा देने के लिए स्कूलों में प्रोजैक्टर और एल.ई.डीज़. मुहैया करवाई गई हैं। उन्होंने कहा कि स्मार्ट क्लासरूमों में प्रोजैक्टरों की उपलब्धता के साथ-साथ कमरों के रूप को सुधारने के लिए पंजाब सरकार ने 3,000 रुपए प्रति स्मार्ट क्लासरूम स्कूलों को दिया है। उन्होंने कहा कि प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों को 2-2 क्लासरूम्ज़ के लिए 6000-6000 रुपए, हाई स्कूलों को 3-3 स्मार्ट क्लासरूम्ज़ के लिए 9000-9000 रुपए और सीनियर सेकंडरी स्कूलों को 5-5 स्मार्ट क्लासरूम्ज़ के लिए 15000-15000 रुपए अनुदान जारी किया गया है।

विजय इंदर सिंगला ने बताया कि यह अनुदान क्लासरूम में पेंट या बाला वर्क करवाने, क्लासरूम के बाहर डोर मैट, खिडक़ी दरवाजों के पर्दों के लिए, क्लासरूम में डिस्पले बोर्ड के लिए, कोर्स हैंडलर, मारकर-डस्टर हैंडलर, की-बोर्ड, माऊस और प्रोजेक्टर के रिमोट के सुरक्षा बॉक्स, प्वाइंटर, लेजऱ लाईट, कूड़ादान आदि की खरीद के लिए इस्तेमाल की जा सकेगी। सिंगला ने बताया कि अनुदान के प्रयोग के लिए शिक्षा विभाग द्वारा समूह जि़ला शिक्षा अफसरों को हिदायतें जारी कर दी गई हैं और यह लाजि़मी तौर पर सुनिश्चित बनाया जाएगा कि यह फंड कमरों के रूप को सुधारने के लिए ही इस्तेमाल किए जाएँ।

जारी की गई हिदायतों में कहा गया है कि स्मार्ट क्लासरूमों को अंदर और बाहर से बढिय़ा रूप देने के लिए खिड़कियाँ-दरवाज़े अच्छे ढंग से पेंट करवाए जाएँ। वाइट बोर्ड दीवार पर लगाने के लिए समतल जगह हो और दीवार को रंग किया हो तो समार्ट क्लासरूम का प्रभाव बढिय़ा बनता है। प्रोजेक्टर को मिट्टी-धूल से बचाया जाना ज़रूरी है और इसी तरह की-बोर्ड, माउस और प्रोजेक्टर का रिमोर्ट भी सुरक्षित बॉक्स में रखा जाये।

स्मार्ट क्लासरूम्ज़ की सुरक्षा यकीनी बनाए रखने के लिए बिजली के सविच्च स्कूल में छुट्टी होने पर या प्रोजेक्टर का प्रयोग न होने पर बंद करके रखा जाना भी यकीनी बनाया जाये। विभाग द्वारा जि़ला स्मार्ट स्कूल मैंटरों और विभिन्न विषयों के जि़ला मैंटरों की ड्यूटी लगाई गई है कि इन स्मार्ट क्लासरूम्ज़ की साप्ताहिक रिपोर्ट भी तैयार की जाये, जिससे मुख्य दफ़्तर द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा स्कूलों में चल रहे कार्यों का रिविऊ भी किया जा सके।

 

Have something to say? Post your comment
 
More Punjab News
ऑडीयो-विजुअल तकनीक विद्यार्थियों को कोर्स को समझाने के लिए सहायक - सिंगला पंजाब में कोविड केस बढऩे पर मुख्यमंत्री द्वारा 1 मार्च से अंदरूनी और बाहरी जमावड़ों पर पाबंदी लगाने के आदेश पंजाब में अब डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस और आर.सी. भी माने जाएंगे वैध स्वास्थ्य विभाग में घर-घर रोजगार योजना के अंतर्गत बड़ी संख्या में भर्ती की गई पंजाब के पहले सौर ऊर्जा आधारित जल आपूर्ति परियोजना से बिजली बिल हुए जीरो पंजाब में स्थानीय निकाय चुनावों में कांग्रेस की जबरदस्त जीत‍ पंजाब में 9 और पोस्को फास्ट-ट्रैक अदालतें, सभी 27 पुलिस जि़लों में यौन उत्पीडऩ रिस्पांस टीमें की जाएंगी गठित पंजाब सरकार ने पाँच सरकारी स्कूलों का नाम शहीदों और स्वतंत्रता सेनानियों के नाम पर रखा - विजय इंदर सिंगला करनाल जेल में बंद नौदीप कौर से मनीषा गुलाटी करेंगी 15 फऱवरी को मुलाकात रोजाना औसतन मामले कम होकर प्रतिदिन तकरीबन 200 तक हुये