Follow us on
Monday, March 01, 2021
Haryana

दुष्यंत चौटाला ने एचएसआईआईडीसी के अधिकारियों से पंचग्राम योजना बारे मंथन किया

February 20, 2021 07:17 AM
फोटो गूगल इमेज से साभार

चंडीगढ़ - हरियाणा के उद्योग, रोजगार एवं आधारभूत ढांचा मजबूत करने की दिशा में कदम उठाते हुए हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने आज यहां ‘हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत ढांचा विकास निगम’ (एचएसआईआईडीसी) के अधिकारियों से ‘पंचग्राम’ योजना बारे मंथन किया। बैठक में ‘हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं आधारभूत ढांचा विकास निगम’ के प्रबंध निदेशक अनुराग अग्रवाल, हरियाणा औद्योगिक एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव विजयेंद्र कुमार समेत अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री को प्रजेंटेशन के माध्यम से उक्त योजना के लिए तैयार किया गया रफ मास्टर-प्लान दिखाया गया, जिसमें दुष्यंत चौटाला ने कई महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए।

डिप्टी सीएम ने इस अवसर पर कहा कि हरियाणा सरकार जिस ढंग से इस ‘पंचग्राम’ योजना पर कार्य करने की सोच रखती है, अगर वह सोच साकार हो जाती है तो प्रदेश में एक नए युग का सूत्रपात होगा। उन्होंने बताया कि योजना के अनुसार इन नए प्रस्तावित शहरों में औद्योगिक, व्यावसायिक, वाणिज्यिक, संस्थागत व आवासीय क्षेत्र में विश्व स्तरीय सुविधाएं होंगी। यहां पर अंतर राष्ट्रीय स्तर के इनवेस्टर व कंसलटेंट आएंगे।

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि इस योजना को सिरे चढऩे में केएमपी एक्सप्रेस-वे से भी काफी फायदा मिलेगा। करीब 136 किलोमीटर लंबे केएमपी एक्सप्रेस-वे से देश की राजधानी दिल्ली पर ट्रैफिक का दबाव कम हुआ है। पहले जो वाहन दिल्ली से होकर राजस्थान, एमपी या अन्य प्रदेशों को जाते थे, केएमपी तैयार होने से वे बाईपास होकर निकल जाते हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार चाहती है कि प्रदेश का विकास तेजी से हो तथा युवाओं को अधिक से अधिक जॉब के अवसर प्राप्त हों।

दुष्यंत चौटाला ने ‘पंचग्राम’ योजना के लिए अधिकारियों को देश-विदेश के बेहतरीन मॉडलों का अध्ययन करने के निर्देश देते हुए कहा कि फाइनल मास्टर-प्लान तैयार करते समय अधिकारी भविष्य में जनसंख्या वृद्घि एवं उसके लिए पेयजल समेत अन्य मूलभूत आवश्यकताओं का भी ध्यान रखें।

Have something to say? Post your comment
 
More Haryana News
संत शिरोमणि श्री गुरू रविदास जी महाराज एक महान संत, दार्शनिक और समाज सुधारक थे - आर्य राज्यपाल ने त्रिपुरा की सद्भावना यात्रा-2021 के कार्यक्रम में राजभवन प्रांगण में कपूर के पौधे का रोपण किया विधान सभा के कार्यों को कागजरहित बनाने की शुरुआत के लिए त्रि-पक्षीय समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर मुख्यमंत्री ने दिये बच्चों को के.जी. टू पी.जी. शिक्षा एक ही संस्थान में मुहैया करवाने के निर्देश उपमुख्यमंत्री ने उचाना के अंतर्गत आने वाले विभिन्न गांवों में प्रस्तावित व चालू प्रोजेक्ट्स की समीक्षा की प्रदेश के युवाओं के कौशल विकास के लिए इस तरह के कोर्स शुरू किए जाएं - मुख्यमंत्री श्री गुरू रविदास जी ने भक्तिकाल में जो समरसता का चिंतन दिया था आर्य मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने केंद्र सरकार से एसवाईएल नहर के मुद्दे पर हस्तक्षेप करने का आग्रह किया किसान मेरी फसल-मेरा ब्यौरा पोर्टल पर हर एकड़ में बोई फसल का विवरण दर्ज करवायें - मनोहर लाल टैक्स और अनापत्ति प्रमाण-पत्र के लिए अब नहीं लगाने पडेंगे कार्यालयों के चक्कर