Follow us on
Monday, March 01, 2021
BREAKING NEWS
सैनिकों की पूर्ण वापसी की योजना पर अमल के लिए टकराव वाले स्थानों से सैनिकों को हटाना जरूरी - भारतइस साल 14 मिशन की योजना - इसरो अध्यक्षपीएसएलवी-सी51 के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1, 18 अन्य उपग्रहों को किया गया प्रक्षेपितमहाराष्ट्र के हिंगोली में कोविड-19 के बढ़ते मामले के मद्देनजर एक से सात मार्च तक कर्फ्यूअमेरिका ने जॉनसन एंड जॉनसन के कोविड-19 टीके के आपात इस्तेमाल को दी मंजूरीभारत को पैरा विश्व रैंकिंग तीरंदाजी में दो स्वर्ण सहित पांच पदकपेट्रोलियम उत्पादों को जीएसटी के तहत लाना अच्छा कदम होगा - मुख्य आर्थिक सलाहकारआत्मनिर्भर भारत अभियान, राष्ट्रीय भावना बन जाएगा - मोदी
India

पूर्व केंद्रीय मंत्री सतीश शर्मा पंचतत्व में विलीन हुए

February 20, 2021 07:33 AM
फोटो गूगल इमेज से साभार

नयी दिल्ली (भाषा) - पूर्व केंद्रीय मंत्री कैप्टन सतीश शर्मा का शुक्रवार को यहां अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनका बुधवार को गोवा में निधन हो गया था। वह 73 साल के थे। शर्मा कैंसर से पीड़ित थे और पिछले कुछ समय से बीमार थे। उनका अंतिम संस्कार यहां लोधी रोड स्थित श्मशान घाट में हुआ।

इस मौके पर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी , पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा , प्रियंका के पति रॉबर्ट वाद्रा तथा कांग्रेस के कई नेताओं एवं कार्यकर्ताओं ने शर्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की। राहुल गांधी ने उनकी अर्थी को कंधा भी दिया।

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के निकट सहयोगी रहे शर्मा पी वी नरसिंह राव सरकार में 1993 से 1996 तक केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री रहे। आंध्र प्रदेश के सिकंदराबाद में 11 अक्टूबर , 1947 को जन्मे शर्मा एक पेशेवर वाणिज्यिक पायलट थे। रायबरेली और अमेठी निर्वाचन क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व कर चुके शर्मा तीन बार लोकसभा सदस्य चुने गए थे। वह तीन बार राज्यसभा सदस्य भी बने और उच्च सदन में उन्होंने मध्य प्रदेश , उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया।

वह पहली बार जून 1986 में राज्यसभा सदस्य बने और बाद में राजीव गांधी के निधन के बाद 1991 में अमेठी से लोकसभा सदस्य चुने गए। इसके बाद वह जुलाई 2004 से 2016 तक राज्यसभा सदस्य रहे।

Have something to say? Post your comment
 
More India News
सैनिकों की पूर्ण वापसी की योजना पर अमल के लिए टकराव वाले स्थानों से सैनिकों को हटाना जरूरी - भारत इस साल 14 मिशन की योजना - इसरो अध्यक्ष पीएसएलवी-सी51 के जरिए ब्राजील के अमेजोनिया-1, 18 अन्य उपग्रहों को किया गया प्रक्षेपित महाराष्ट्र के हिंगोली में कोविड-19 के बढ़ते मामले के मद्देनजर एक से सात मार्च तक कर्फ्यू आत्मनिर्भर भारत अभियान, राष्ट्रीय भावना बन जाएगा - मोदी तीन दिन स्थिर रहने के बाद ईंधन के दामों में फिर आई तेजी लव जिहाद के खिलाफ कानून मुस्लिम विरोधी नहीं - योगी कश्मीर में हुई ताजा बर्फबारी ने दोबारा लौटाई शीतलहर दबाव में झुकने वाला नहीं हूं - अभिषेक बनर्जी चमोली आपदा में मृतकों की संख्या 71 हुई