Follow us on
Monday, March 01, 2021
Sports

वायरस के डर को भगाकर एक साल में अपनी पहली प्रतियोगिता के लिये तैयार है मैरीकोम

February 23, 2021 10:08 AM

नयी दिल्ली (भाषा) - कोरोना वायरस के डर ने भारतीय मुक्केबाज एम सी मैरीकोम में प्रतिस्पर्धा की तीव्र इच्छा जगा दी है और वह अब पिछले एक साल में अपने पहले टूर्नामेंट में खेलने के लिये तैयार हैं। इस 37 वर्षीय खिलाड़ी ने 2020 में अधिकतर समय घर में ही अभ्यास किया और डेंगू से उबरने के बाद पिछले महीने ही उन्होंने 15 दिन के लिये बेंगलुरू में शिविर में हिस्सा लिया था।

वह पिछले साल जोर्डन में एशियाई क्वालीफायर्स के जरिये तोक्यो ओलंपिक में जगह बनाने के बाद अब वह स्पेन में बोक्साम अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के जरिये पहली बार रिंग में उतरेगी। यह टूर्नामेंट अगले सप्ताह शुरू होगा। मैरीकोम ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘मैं यात्रा करने से डर रही थी और मैं बेहद सतर्क और चिंतित थी लेकिन आप कब तक डरकर जी सकते हो। किसी न किसी मोड़ पर तो इसे रोकना होगा। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘किसी को भी वायरस से बचने के लिये समझदार होना चाहिए और मैं अपनी तरफ से यही प्रयास कर रही हूं। मास्क पहन रही हूं और हमेशा की तरह स्वच्छता बनाये रखने पर ध्यान दे रही हूं। लेकिन इससे डरते रहना जैसे कि मैं लंबे समय तक डरती रही, शायद ऐसा नहीं होना चाहिए।’’

महामारी के कारण मैरीकोम इससे पहले अभ्यास के लिये विदेशी दौरों पर जाने से बचती रही लेकिन अब वह ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके आठ अन्य मुक्केबाजों के साथ एक से सात मार्च तक कैस्टीलोन में होने वाले टूर्नामेंट में भाग लेगी। भारतीय टीम के इस सप्ताहांत रवाना होने की संभावना है।

Have something to say? Post your comment
 
More Sports News
कुंबले के 619 विकेट से आगे निकलने के सवाल पर अश्विन ने दिया दिल जीतने वाला जवाब इंग्लिश मीडिया में एक वर्ग ने हार के लिये टीम को दोषी कहा, अन्य ने पिच पर ठीकरा फोड़ा अहमदाबाद टेस्ट : भारत ने इंग्लैंड को 10 विकेट से हराया लाइट्स को लेकर चिंतित, खिलाड़ियों को तेजी से ढलना होगा - कोहली भारतीय टीम का चयन करने के लिये ई फुटबॉल चैलेंज आयोजित करेगा एआईएफएफ टीम में चयन पर सूर्यकुमार ने कहा, यह स्वप्निल अहसास है आस्ट्रेलियाई ओपन फाइनल : जोकोविच की नजरें 18वे, मेदवेदेव की पहले ग्रैंडस्लैम खिताब पर अंकिता ने अपना पहला डब्ल्यूटीए खिताब जीता अंकित नारवाल मोंटेनेग्रो टूर्नामेंट के क्वार्टर फाइनल में डुप्लेसिस ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया