Follow us on
Monday, September 27, 2021
BREAKING NEWS
World

सार्वभौमिक गरीबी की दहलीज पर खड़ा है अफगानिस्तान - संयुक्त राष्ट्र एजेंसी

September 11, 2021 11:39 AM

संयुक्त राष्ट्र - संयुक्त राष्ट्र की विकास एजेंसी ने कहा है कि अफगानिस्तान 'सार्वभौमिक गरीबी' के कगार पर खड़ा है। ऐसे में, यदि स्थानीय समुदायों और उनकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिये तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो अगले साल के मध्य में यह अनुमान हकीकत में तब्दील हो सकता है।

एजेंसी ने कहा कि अफगानिस्तान पर तालिबान के नियंत्रण के बाद 20 साल में हासिल की गई आर्थिक प्रगति जोखिम में पड़ गई है। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) ने 15 अगस्त को अफगानिस्तान पर तालिबान के काबिज होने के बाद चार परिदृश्यों को रेखांकित किया है। इनमें जून 2022 से शुरू होने वाले अगले वित्तीय वर्ष में जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) में 3.6 प्रतिशत से 13.2 प्रतिशत के बीच गिरावट होने का अनुमान शामिल है। हालांकि यह संकट की गंभीरता और इस बात पर निर्भर करेगा कि विश्व तालिबान से कितना संबंध रखता है।

अफगानिस्तान में अशरफ गनी की सरकार के पतन से पहले जीडीपी में 4 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान लगाया जा रहा था, ऐसे में संयुक्त राष्ट्र एजेंसी की यह भविष्यवाणी उस पहलू के विपरीत है। यूएनडीपी एशिया-प्रशांत की निदेशक कन्नी विंगराज ने बृहस्पतिवार को संवाददाता सम्मेलन में 28 पृष्ठों का आकलन जारी करते हुए कहा, 'अगले साल के मध्य तक अफगानिस्तान के सार्वभौगिक गरीबी के दुष्च्रक में फंसने की बहुत अधिक आशंका है। हम उसी ओर बढ़ रहे हैं। अफगानिस्तान में गरीबी दर 97-98 प्रतिशत तक पहुंचने की आशंका है।'

विंगराज ने कहा कि फिलहाल गरीबी दर 72 प्रतिशत है। उन्होंने 2001 में अफगानिस्तान की सत्ता से तालिबान के बेदखल होने के बाद हुए विकास के विभिन्न पहलुओं को रेखांकित किया।

उन्होंने कहा कि बीते 20 साल में प्रतिव्यक्ति आय दोगुने से अधिक हो गई। जन्म के समय से जीवन प्रत्याशा नौ साल बढ़ी है। बच्चों के स्कूल जाने के वर्षों की संख्या छह से बढ़कर 10 वर्ष हो गई है और महिलाओं के विश्वविद्यालय जाना बढ़ा है।

विंगराज ने कहा, लेकिन अब अफगानिस्तान राजनीतिक अस्थिरता, विदेशी कोष पर रोक, सार्वजनिक वित्तीय प्रणाली के चरमराने, और स्थानीय बैंकिंग व्यवस्था पर पड़े प्रभाव के कारण मानवीय व विकास त्रासदी का सामना कर रहा है।

Have something to say? Post your comment
More World News
अमेरिका की चेतावनी के बावजूद और अधिक रूसी मिसाइलें खरीद सकता है तुर्की - एर्दोआन विवाद सुलझ नहीं पाने के कारण संयुक्त राष्ट्र में म्यांमा नहीं कर पाएगा संबोधित भारत, अमेरिका ने सीमा पार आतंकवाद की निंदा की, 26/11 हमले के दोषियों पर कार्रवाई का आह्वान उ. कोरिया ने द. कोरिया के समक्ष वार्ता का प्रस्ताव रखा, शत्रुतापूर्ण नीतियां छोड़ने की शर्त रखी भारतीय प्रवासियों ने दुनियाभर में अपनी अलग पहचान बनाई है - मोदी तुर्की ने कश्मीर मामले पर टिप्पणी की तो भारत ने साइप्रस के मामले पर दिया बयान तालिबान ने उप मंत्रियों की सूची जारी की, किसी भी महिला को नहीं मिली जगह हूती विद्रोहियों द्वारा यमन के नौ लोगों की हत्या की संयुक्त राष्ट्र, अमेरिका और ब्रिटेन ने की निंदा तालिबान ने काबुल में महिला कर्मचारियों को घर पर ही रहने का आदेश दिया एससीओ शिखर सम्मेलन: जयशंकर ने अपने रूसी समकक्ष, ईरान के राष्ट्रपति के साथ अनौपचारिक बैठक की