Follow us on
Saturday, October 16, 2021
BREAKING NEWS
Chandigarh

चंडीगढ़ के 13 गांवों के विकास कार्यों की प्रशासक ने रखी नींव

October 10, 2021 07:00 AM

चंडीगढ़ - नगर निगम में शामिल सभी 13 गांवों में 72.9 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का शिलान्यास शनिवार को यूटी के प्रशासक और पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने गांव बहलाना से किया। इस अवसर पर यूटी के प्रशासक के सलाहकार धर्मपाल, मेयर रविकांत शर्मा, नगर निगम आयुक्त आनिंदिता मित्रा, डीसी मंदीप सिंह बराड़ सहित प्रशासन के अन्य अधिकारी मौजूद थे। इस दौरान सांसद किरण खेर ने भी लोगों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया।

लोगों को संबोधित करते हुए प्रशासक ने कहा कि कोविड के कारण काम जरूर प्रभावित हुआ है लेकिन यूटी प्रशासन व नगर निगम के अधिकारियों में काम करने की इच्छा कभी कम नहीं हुई। उन्होंने कहा कि इन विकास कार्यों से करीब 1.30 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि आज के संदर्भ में यह कहावत पहले से कहीं अधिक सत्य है कि "बचाया गया जल उत्पन्न हुआ जल है"। हम सभी को यह सीखने की जरूरत है कि पानी का विवेकपूर्ण उपयोग कैसे किया जाए। एकीकृत जल संसाधन प्रबंधन अब नितांत आवश्यक हो गया है।

इस मौके पर किरण खेर ने कहा कि चंडीगढ़ की जनसंख्या में वृद्धि के साथ ही इन गाँवों की जनसंख्या भी कई गुना बढ़ गई है। इसलिए, बुनियादी ढांचे की क्षमता अपर्याप्त हो गई है। इन विकास कार्यों को नगर निगम चरणबद्ध तरीके से करवाएगा और 13 गांवों में सीवरेज और जलापूर्ति का शिलान्यास कर आज से काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि इनके अलावा इन गांवों में धर्मशालाओं, संपर्क केंद्रों, आंगनबाड़ी भवनों, स्वास्थ्य केंद्रों, श्मशान घाटों, पंचायत घर और सामुदायिक केंद्रों के रेनोवेशन के कार्य भी किए जाएंगे जिन पर करीब 204 लाख रुपये खर्च होंगे।

चंडीगढ़ के मेयर रविकांत शर्मा ने कहा कि नगर निगम ने इन गांवों के रख-रखाव के लिए कई परियोजनाएं शुरू की हैं ताकि इन क्षेत्रों के निवासियों को बुनियादी सुविधाओं से संबंधित समस्याओं का सामना न करना पड़े। यूटी के प्रशासक के सलाहकार धर्मपाल ने कहा कि इन गांवों के लोगों को रोजाना जहां दूषित पानी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है वहीं गली/सड़कों पर सीवरेज का ओवरफ्लो, टूटी सड़कें/गलियां, फुटपाथों की खराब स्थिति और खुली नालियों में बह रहा बारिश का पानी उन्हें परेशान कर रहा है। उन्होंने कहा कि अब इन सभी समस्याओं ने उन्हें निजात मिल जाएगी।

गौरतलब है कि लंबे समय से गांव वाले इन कामों का इंतजार कर रहे थे। सभी 13 गांवों के विकास कार्य के लिए 102 करोड़ रुपये का एस्टीमेट तैयार किया गया था, जिसमें से 11 करोड़ का काम प्रशासन को करना था, जबकि शेष कार्यों के लिए 91 करोड़ रुपये नगर निगम को देने को कहा था। निगम के पास अब तक 50 करोड़ रुपये आ गए हैं। इनमें से जन स्वास्थ्य विभाग ने पेयजल आपूर्ति, बरसाती पानी की निकासी की लाइन व सीवर लाइन के कार्यों की निविदा जारी कर दी है। वहीं दो  करोड़ रुपये से निगम में शामिल गांवों के भवनों की मरम्मत के कार्य कराने की स्वीकृत भी दे दी गई है।

Have something to say? Post your comment
More Chandigarh News
ट्राईसिटी में 9 हुए संक्रमित, चंडीगढ़ और पंचकूला में आए 1-1 केस नगर निगम चुनाव की तस्वीर 19 अक्तूबर को होगी स्पष्ट, तय होगा कौन से वार्ड होंगे रिजर्व दशहरे से पहले पटाखे जलाने पर रोक के आदेश ने बढ़ाई रामलीला कमेटियों की परेशानी गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान के लॉन्च पर हुआ राज्य स्तरीय कार्यक्रम प्राइमरी कक्षाओं के छात्र अब 18 अक्तूबर से स्कूल में आकर लगा सकेंगे क्लास ट्राईसिटी में 8 नए मामले, चंडीगढ़ में 5 हुए संक्रमित चंडीगढ़ में अगले आदेश तक पटाखों की बिक्री और जलाने पर लगा प्रतिबंध चंडीगढ़ को केंद्र से 50 मेगावाट कम मिलेगी बिजली, प्रशासन ने कहा फिलहाल कोई संकट नहीं इंटरनेशनल डे ऑफ गर्ल चाइल्ड पर 550 स्कूल गर्ल्स ने गुलाबी पगड़ी पहन कर बनाई ह्यूमन चेन हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट लगवाने के लिए अब किया जा सकेगा ऑनलाइन आवेदन