Follow us on
Sunday, April 14, 2024
India

पंतजलि विज्ञापन मामला : रामदेव, आचार्य बालकृष्ण उच्चतम न्यायालय में पेश हुए

April 02, 2024 12:53 PM

नई दिल्ली: योग गुरु रामदेव और पतंजलि आयुर्वेद के प्रबंध निदेशक (एमडी) आचार्य बालकृष्ण उस कारण बताओ नोटिस के सिलसिले में उच्चतम न्यायालय में मंगलवार को पेश हुए जिसमें पूछा गया था कि उनके खिलाफ अवमानना की कार्यवाही क्यों शुरू नहीं की जानी चाहिए। न्यायालय ने पतंजलि आयुर्वेद के उत्पादों और उनके चिकित्सकीय प्रभावों के विज्ञापनों से संबंधित अवमानना कार्यवाही के मामले में 19 मार्च को रामदेव और बालकृष्ण से व्यक्तिगत रूप से अपने समक्ष पेश होने को कहा था। पीठ ने कंपनी और बालकृष्ण को पहले जारी किए गए अदालत के नोटिस का जवाब दाखिल नहीं करने पर कड़ी आपत्ति जताई थी। न्यायालय ने कहा था कि उसे रामदेव को कारण बताओ नोटिस जारी करना उपयुक्त लगता है क्योंकि पतंजलि द्वारा जारी विज्ञापन 21 नवंबर, 2023 को अदालत में दिए गए हलफनामे का विषय हैं। इसने कहा कि ऐसा लगता है कि रामदेव ने इसका समर्थन किया था।यह मामला मंगलवार को न्यायमूर्ति हिमा कोहली और न्यायमूर्ति अहसानुद्दीन अमानुल्लाह की पीठ के सामने सुनवाई के लिए आया। पीठ ने कहा, ‘‘क्या दोनों उपस्थित है?’’ रामदेव की ओर से पेश वकील ने कहा कि वे दोनों अदालत में हैं। पीठ ने कहा कि पतंजलि द्वारा जारी विज्ञापन देश के ‘‘कानून के दायरे’’ में हैं।

 
Have something to say? Post your comment
More India News
मोदी ने साइमन हैरिस को आयरलैंड का सबसे युवा प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी ईद-उल-फितर से पहले कश्मीर के बाजारों में उमड़ी लोगों की भीड़ Chhattisgarh News: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने दंतेवाड़ा में होम वोटिंग की प्रक्रिया का किया निरीक्षण मध्य प्रदेश में एसएएफ जवानों को ले जा रही बस और कार की टक्कर में तीन की मौत, 26 घायल एनसीईआरटी की किताबों में बाबरी मस्जिद, गुजरात दंगे के संदर्भ में संशोधन किया गया कर्नाटक : चामराजनगर लोकसभा क्षेत्र से 98.52 करोड़ रुपये की शराब जब्त प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व उप प्रधानमंत्री जगजीवन राम को दी श्रद्धांजलि राष्ट्रपति मुर्मू ने कैंसर के इलाज के लिए स्वदेशी सीएआर टी-कोशिका थेरेपी की शुरुआत की लोकसभा चुनाव से पहले दक्षिण कन्नड़ में 90,000 लीटर से अधिक शराब जब्त की गई पारिवारिक कलह के चलते राजस्थान में पूर्व विधायक ने हाथ की नसें काटी: हाॅस्पिटल पहुंचने से पहले मौत