Follow us on
Sunday, April 14, 2024
India

राजीव गांधी की हत्या के मामले के तीन दोषी श्रीलंका लौट गए

April 03, 2024 11:22 AM

तमिलनाडु: राजीव गांधी हत्याकांड के तीनों दोषी बुधवार को श्रीलंका लौट गए। तीनों दोषी श्रीलंकाई नागरिक हैं। अधिकारियों के मुताबिक, मुरुगन उर्फ श्रीहरन, जयकुमार और रॉबर्ट पायस श्रीलंका के एक विमान से अपने देश रवाना हुए। उच्चतम न्यायालय ने इस हत्याकांड के मामले में नवंबर 2022 को सात दोषियों को रिहा किया था, जिसमें ये तीनों श्रीलंकाई नागरिक भी शामिल थे। दोषियों की रिहाई के बाद उन्हें तिरुचिरापल्ली में एक विशेष शिविर में रखा गया था। वे कल रात यहां पहुंचे और आज (बुधवार) कोलंबो के लिए रवाना हुए। तमिलनाडु सरकार ने पूर्व में मद्रास उच्च न्यायालय को सूचित किया था कि विदेशी क्षेत्रीय पंजीकरण कार्यालय (एफआरआरओ) द्वारा निर्वासन आदेश जारी करने के बाद वे (सभी दोषी) घर वापस जा सकते हैं। चेन्नई स्थित श्रीलंकाई उच्चायोग पहले ही उन्हें (दोषियों को) घर लौटने के लिए यात्रा दस्तावेज जारी कर चुका है। मामले में दोषी ठहराए गए एक अन्य श्रीलंकाई नागरिक संथन की हाल ही में यहां मौत हो गई थी। इस मामले में जिन अन्य लोगों को दोषी ठहराया गया और रिहा किया गया वे सभी भारतीय हैं। रिहा किये गये दोषियों में पेरारिवलन, रविचंद्रन और नलिनी शामिल हैं। सभी सातों दोषियों ने 30 वर्षों से अधिक समय जेल में बिताया था। 

 
Have something to say? Post your comment
More India News
मोदी ने साइमन हैरिस को आयरलैंड का सबसे युवा प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी ईद-उल-फितर से पहले कश्मीर के बाजारों में उमड़ी लोगों की भीड़ Chhattisgarh News: मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने दंतेवाड़ा में होम वोटिंग की प्रक्रिया का किया निरीक्षण मध्य प्रदेश में एसएएफ जवानों को ले जा रही बस और कार की टक्कर में तीन की मौत, 26 घायल एनसीईआरटी की किताबों में बाबरी मस्जिद, गुजरात दंगे के संदर्भ में संशोधन किया गया कर्नाटक : चामराजनगर लोकसभा क्षेत्र से 98.52 करोड़ रुपये की शराब जब्त प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व उप प्रधानमंत्री जगजीवन राम को दी श्रद्धांजलि राष्ट्रपति मुर्मू ने कैंसर के इलाज के लिए स्वदेशी सीएआर टी-कोशिका थेरेपी की शुरुआत की लोकसभा चुनाव से पहले दक्षिण कन्नड़ में 90,000 लीटर से अधिक शराब जब्त की गई पारिवारिक कलह के चलते राजस्थान में पूर्व विधायक ने हाथ की नसें काटी: हाॅस्पिटल पहुंचने से पहले मौत